Skip to main content

पशुपालनदुग्ध विेकास

पशुपालनदुग्ध विेकास


 नये आये पशुओं तथा अवशेष पशुओं में गलाधोंटू का टीका लगवायें।
 लीवर फ्लूक के लिए दवा पिलायें।
 नवजात बच्चों को खीस (कोलेस्ट्रम) अवश्य दें।
 गर्भित पशु की उचित देखेभाल करें तथा पोषिटक चारा दें।
 पशुशाला को साफ-सुथरा व सूखा रखें, पानी न जमा होने दें।
 मच्छरों से बचाव के लिए पशुशाला के पास नीम की पत्ती का धुंआ करें।
 वाहा्र परजीवी के लिए दवा लगायें।

0
Your rating: None

Please note that this is the opinion of the author and is Not Certified by ICAR or any of its authorised agents.