Skip to main content

धान के खेत की तैयारी


खेत की तैयारी :

  •         ट्राइकोडर्मा हर्निएनम या स्यूडोमोनास फ्लुओंरेसेन्स से पूर्व कालोनिकृत गोबर की खाद का प्रयोग कीजिए। गोबर की खाद की के पूर्व-कॉलोनीकरण के लिए गोबर की खाद के गढ्ढे में मासिक अंतराल पर ट्राइकोडर्मा हार्निएनम स्यूडोमोनास फ्लुओंरेसेन्स या 1.0 कि0 ग्रा0/गड्डा की दर से पंत बायो - एजेन्ट मिलाया जाता हैं। इन गङ्ढों को गले की पत्तिायों या धान के पुआल से ढक देना चाहिए। नियमित अंतरालों पर बायो - एजेन्ट प्रयोग के बाद कम - से - कम एक बार और आर्दता बानाए रखने के लिए गोबर की खाद के प्रयोग से 15 एवं 7 दिन पहले जल का छिड़काव करना चाहिए।
  •         हरी खाद फसलों की बोआई करनी चाहिए। हरी रबर फसल के मिट्टी में मिलाने के ठीक समय पर प्रत्येक 5 ग्राम/लीटर जल की दर से ट्राइकोडर्मा हर्निएनम एवं स्यूडोमोनास फ्लुओंरेसेन्स  का छिड़काव कीजिए।

  नर्सरी बोआई के समय पर :

  •         नमकीन जल से बीजों उपचार के बाद 5 ग्राम प्रत्येक /कि0ग्रा0 बीज की दर से ट्राइकोडर्मा हार्निएनम एवं स्यूडोमोनास फ्लुओंरेसेन्स या 10 ग्राम/कि0ग्रा0 बीज की दर से पन्त बॉयो - एजेन्ट - 3 से बीजों उपचार।
  •         स्यूडोमोनास फ्लुओंरेसेन्स (10 ग्राम प्रति कि0 ग्रा0 बीज) से बीज बायो - प्राइमिंग (ट्रैव अस्तरित करना)
  •         तनावेधक के लिए प्रति 100 वर्गमीटर नर्सरी क्षेत्र के लिए एक फीरोमोन ट्रैप (पाष) का प्रयोग कीजिए।

150000 पर जी व्याम/है0 की दर से ट्राइकोगैमा जैवोनिकम या ट्रा चिलोनिस छोड़िए। 

 

0
Your rating: None

Please note that this is the opinion of the author and is Not Certified by ICAR or any of its authorised agents.