Skip to main content

Please note that this site in no longer active. You can browse through the contents.

कवकनाशियों एवं बायोएजेन्टों से बीजोपचार

कवकनाशियों से उपचार

सब्जियों में परवर्ती अवस्थाओं पर कवक संक्रमण से बचने के लिए बीजों/पौधों को उपचारित करने की संस्तुति की जाती है।

आवश्यक मद

  • बीज मात्रा: आवश्यकता के अनुसार। कल्पना कीजिए कि हम 1 कि0ग्रा0 बीज लेते हैं।
  • संस्तुत कवकनाशी एवं मात्रा : बाविस्टिन - 1 कि0 ग्रा0 के लिए 2.0- 2.5 ग्राम 
  • टब/बाल्टी, और 
  • दस्ताने

प्रक्रिया :

चरण 1: बीज की मात्रा के अनुसर, कवकनाशी तोलिए। कहिए 10 कि0 ग्रा0 बीज के लिए अपेक्षित कवकनाशी 25 ग्राम होगा।
चरण 2: बीज के साथ कवकनाशी को अच्छी तरह से मिश्रित करना चाहिए।
चरण 3: बीज बोआई के लिए तैयार है।

कीटनाशियों से उपचार 

      मटर - तना मक्खी जैसे कीटों से अगेती फसल को सुरक्षित करने के लिए कीटनाशियों से बीजों का उपचार करना आवश्यक है।

आवश्यक मद :

  • बीज मात्रा : आवश्यकता के अनुसार। कल्पना कीजिए कि हम 1 कि0ग्रा0 बीज लेते हैं।
  • संस्तुत कीटनाशी और मात्रा : क्लोरोपायरीफॉस: 5 मि0 ली0/ कि0 ग्रा0 बीज 
  • टब/बाल्टी, और
  • दस्ताने

प्रक्रिया:

चरण 1: बीज की मात्रा के अनुसर मापक सिलिन्डर से कीटनाशी नापिए।
        कहिए 10 कि0 ग्रा0 बीज के लिए अपेक्षित कीटनाशी 50 मि0 ली0 होगा।
चरण 2: एक टब में इसे बीज के साथ मिश्रित कीजिए।
चरण 3: इसे 3-4 घंटों तक खुला छोड़ दीजिए, जिससे कि रसायन सूखने के बाद बीज के पृष्ठ पर अच्छी तरह से चिपक जाए।
चरण 4: बीज बोआई के लिए तैयार है।

बायोपेस्टीसाइडों से उपचार:

आवश्यक मद :

  • बीज मात्रा : आवश्यकता के अनुसार। कल्पना कीजिए कि हम 1 कि.ग्रा. बीज लेते है।
  • संस्तुत बायोएजेन्ट
(क) स्यूडोमोनास फ्लुओरे
(ख) ट्राइकोडर्मा हर्जिएनम 
  • मात्रा : 8-10 ग्राम/कि.ग्रा. बीज
  • टब/बाल्टी और दस्ताने

प्रक्रिया:

चरण 1: बीज पर पानी छिड़किए।
चरण 2:  बीज में संस्तुत एजेन्ट अच्छी तरह से मिश्रित कीजिए।
चरण 3:  बीज के साथ बायोएजेन्ट मिश्रित करने के बाद इसे 12-24 घंटों तक छाया में फैला लीजिए।
चरण 4:  बीज बोआई के लिए तैयार है।
0
Your rating: None