Skip to main content

Please note that this site in no longer active. You can browse through the contents.

gbpuat-uttaranchal(pantnagar)

शर्करा फसल : गन्ना

शर्करा फसल

  • गन्ना और चुकन्दर विश्व में शर्करा के मुख्य स्रोत हैं।
  • विश्व में उत्पादित कुल शर्करा का 60 प्रतिशत केवल गन्ना से प्राप्त होती है।

गन्ना : वानस्पतिक विवरण एवं वर्धन अवस्थाएं

वानस्पतिक विवरण

वर्धन अवस्थाएं

मूल तंत्र : गन्ना


मूल तंत्र

  • मूल तंत्र का कार्य दोहरा होता है:

-पहला, यह मृदा से जल एवं पोशकों के अंतर्ग्रहण में समर्थ बनाता है, और

पत्ती : गन्ना

पत्ती

पर्णच्छद वृंत को पूरी तरह से ढके रखता है जो कम से कम एक पूरी पोरी तक फैला होता है

क्षेत्रफल उत्पादन और उत्पादकता : गन्ना

क्षेत्रफल उत्पादन और उत्पादकता

  • इस समय अधिकांश भारतीय राज्यों में गन्ना की खेती की जाती है। उत्तार प्रदेश, देश में सबसे अधिक क्षेत्रफल, देश में गन्ना क्षेत्रफल के लगभग 50 प्रतिशत रखता है उसके बाद महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आन्ध्र प्रदेश, गुजरात, बिहार, हरियाणा एवं पंजाब हैं। ये नौ राज्य सर्वाधिक महत्वपूर्ण गन्ना उत्पादक राज्य हैं।

पोएसी वंश की सूची

फसल रूपरेखा

वंश देखिए: पोएसी वंश की सूची

     वास्तविक घासें पोएसी कुल (पहले ग्रैमिनी) के एक बीज पत्री (लिलिओप्सिडा वर्ग) पौधे होती है। उनकी निम्नलिखित विशेषताएं हैं:

वृंत : गन्ना

  वृंत

  • गन्ने के वृंत में संधि (जोड़) नामक खंड होते हैं।
  • प्रत्येक संधि गाँठ एवं पोरी का बना होता है।

गन्ना उत्पादक क्षेत्र

गन्ना उत्पादक क्षेत्र

  • मोटे तौर पर, भारत में गन्ना की खेती के दो सुस्पश्ट कृषि - जलवायु क्षेत्र है - उष्णकटिबंधीय एवं उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्र।
  • फिर भी, प्रजातीय विकास के प्रयोजन से मुख्य रूप से पाँच कृषि -जलवायु क्षेत्र पहचाने गए हैं जो निम्नलिखित हैं:

उदभव और इतिहास : गन्ना

उदभव और इतिहास

  • गन्ना कुल-ग्रैमिनी, वर्ग- एक बीज पत्ती और गण- ग्लूमेसी

उपकुल - पैनिकॉइडी, ट्राइब - एन्ड्रियोगानी और सब-ट्राइब सैकेरिनिणी से संबन्धित है।

Syndicate content